Types of Printer (प्रिंटर के प्रकार )

प्रिन्टर (PRINTER ) –

कम्प्यूटर की प्रोसेसिंग से प्राप्त परिणामों की हार्डकॉपी को प्राप्त करने के लिए प्रिन्टर्स का उपयोग किया जाता है। अलग-अलग प्रिन्टर्स का प्रयोग अलग-अलग कार्यों के लिए किया जाता है। कुछ प्रिन्टर केवल टेक्स्ट (Text) ही प्रिन्ट करते हैं, जबकि कुछ प्रिन्टर टेक्स्ट अथवा ग्राफिक्स (Text or Graphics) दोनों प्रिन्ट कर सकते हैं। प्रिन्टरों को निम्न प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है-

(i) तकनीक के आधार पर प्रिन्टरों का वर्गीकरण (Classification of Printer According to Technique)

Types of Printer- तकनीक के आधार पर प्रिन्टर्स दो प्रकार के होते हैं-

(A) इम्पैक्ट प्रिन्टर (Impact Printer)-

इस प्रकार के प्रिन्टर में धातु के छोटे-छोटे हथौड़े कार्बन के रिबन पर चोट करते हैं। रिबन के नीचे वह पेपर रखा जाता है जिस पर प्रिन्ट लेना होता है। जब हथौड़े द्वारा चोट दी जाती है तो पेपर पर प्रिन्ट आ जाता है। यह निम्न प्रकार के होते हैं-

(a) डॉट मैट्रिक्स प्रिन्टर (Dot Matrix Printer)
(b) डेजी व्हील प्रिन्टर (Daisy Wheel Printer)
(c) बैंड प्रिन्टर (Band Printer)
(d) चैन प्रिन्टर (Chain Printer)
(e) ड्रम प्रिन्टर (Drum Printer)

(B) नॉन-इम्पैक्ट प्रिन्टर (Non-impact Printer)

इस प्रकार के प्रिन्टर हथौड़े जैसी किसी वस्तु द्वारा रिबन पर चोट (strike) नहीं दी जाती है। इस तकनीक में प्रिन्ट हैड व कागज के मध्य भौतिक सम्पर्क नहीं होता है। इसके मुख्य उदाहरण निम्न है-

(a) इंक जैट प्रिन्टर (Ink Jet Printer)

(b) लेजर प्रिन्टर (Laser Printer)

(c) थर्मल प्रिन्टर (Thermal Printer)

Types of Printer-

(ii) गति के आधार पर प्रिन्टरों का वर्गीकरण (Classification of Printer According to Speed)

गति के आधार पर प्रिन्टर तीन प्रकार के होते हैं-

(A) कैरेक्टर प्रिन्टर (Character Printer) –

इस प्रकार के प्रिन्टर एक समय में एक कैरेक्टर प्रिन्ट करते हैं। यह कैरेक्टर सॉलिड फोन्ट (Solid Font ) या मैट्रिक्स फॉर्म (Dot Matrix Form ) में सकते है इनकी गति CPS (Character Per Second) में मापी जाती है |

इस प्रकार के प्रिन्टर निम्न है-

(a) डॉट मैट्रिक्स प्रिन्टर (Dot Matrix Printer)

(b) डेजी व्हील प्रिन्टर (Daisy Wheel Printer)

(c) इंक जेट प्रिन्टर (Ink Jet Printer)

(B) लाइन प्रिन्टर (Line Printer)-

इस प्रकार के प्रिन्टर एक समय में एक पूरी पंक्ति छापते हैं। इस प्रकार के प्रिन्टर तीव्र गति से कार्य करते हैं। इनमें अधिकाशंतः इम्पैक्ट तकनीक का प्रयोग किया जाता है। इनकी गति LPM (Line Per Minute) होती है। यह एक मिनट में 300 से 2500 लाइनों को प्रिन्ट कर सकते हैं। यह एक लाइन में 132 से 136 कैरेक्टर तक प्रिन्ट कर सकते हैं। इनके उदाहरण निम्न है-

(a) बैंड प्रिन्टर (Band Printer)

(b) चैन प्रिन्टर (Chain Printer)

(c) ड्रम प्रिन्टर (Drum Printer)

(C) (Page Printer)

इस प्रकार के प्रिन्टर तीव्र गति वाले नॉन-इम्पैक्ट प्रिन्टर होते हैं, जो कि एक मिनट में 20,000 लाइनें प्रिन्ट कर सकते हैं। इसका उदाहरण इलेक्ट्रॉनिक जेरोक्स (Xerox) मशीन है। इसमें इलेक्ट्रॉग्राफिक्स (Electro Graphics) तकनीक का प्रयोग किया जाता है।

इस प्रकार के प्रिन्टर महंगे होते हैं एवं इनकी प्रिन्टिंग उच्च कोटि की होती है। जैसे- लेजर प्रिन्टर (Laser Printer) आदि ।

इम्पैक्ट और नॉन इम्पैक्ट प्रिन्टर में अन्तर

(Difference between Impact or Non-Impact Printer)

क्र०
सं०
इम्पैक्ट प्रिन्टर
(Impact Printer)
नॉन इम्पैक्ट प्रिन्टर
(Non-Impact Printer)
1इस प्रकार के प्रिन्टर प्रिंटिंग के समय अधिक आवाज करते हैं।इस प्रकार के प्रिन्टर, प्रिन्टिंग के समय बहुत कम आवाज करते हैं।
2ये प्रिन्टर ग्राफिक्स के लिए उपयुक्त नहीं हैं।इन प्रिंटर्स का प्रयोग अच्छी ग्राफिक्स प्रिन्टिंग में भी किया जा सकता हैं।
3ये प्रिन्टर केवल कागज पर ही प्रिंट करने में सक्षम हैं।ये प्रिन्टर कागज के अलावा प्लास्टिक अथवा अन्य सतहों पर भी प्रिन्टिंग का कार्य कर सकते हैं।
4ये प्रिन्टर एक साथ अनेक कॉपी (कार्बन पेपर का प्रयोग कर) प्रिंट कर सकते हैं।ये प्रिन्टर एक समय में एक ही प्रति प्रिंट कर सकते हैं।
5इन प्रिन्टर्स में कागज व हैड का रिबन के माध्यम से भौतिक संपर्क होता है।इन प्रिन्टर्स में कागज व हैड का भौतिक रूप से कोई संपर्क नहीं होता है। ये इंकजेट या लेजर तकनीकी का प्रयोग कर प्रिन्टिंग का कार्य करते है।
6इनमें एक ही रंग से प्रिन्टिंग की जा सकती है।इनमें प्रिन्टिंग मल्टीकलर या एक ही कलर से की जा सकती है।
Types of key board इस पर क्लिक करे

Types of Mouse इस पर क्लिक करे

Leave a comment