Difference between RAM and ROM (RAM एवं ROM में अन्तर)

ROM (Read Only Memory) :-

Read Only मेमोरी एक ऐसी मेमोरी होती है जिसमें सूचनाओं को केवल पढ़ा जा सकता है इसलिए यह मेमोरी रीड ओनली मेमोरी कहलाती है एवं यह मेमोरी नॉन-वोलेटाइल (Non-Volatile) मेमोरी होती है अर्थात् इसमें सूचनाएं स्थायी (Permanent) रूप से संग्रहित रहती है।

(ii) RAM (Random Access Memory)

इस मेमोरी में सूचनाओं को पढ़ा व लिखा जा सकता है तथा इसमें सूचनाओं का संग्रह भी किया जा सकता है। यहां Random शब्द का अर्थ है की इस प्रकार की मेमोरी में सभी Locations को पढ़ने में या लिखने में समान समय लगता है। यह वोलेटाइल मेमोरी है अर्थात् बिजली जाने पर इसमें संग्रह किए गए डाटा हमेशा के लिए नष्ट हो जाते हैं। यह एक अस्थाई मेमोरी है।

Difference between RAM and ROM

आइये अब जानते है की RAM एवं ROM में क्या अन्तर है

RAM एवं ROM में अन्तर निम्न प्रकार है :-

रैम ओर रोम में अन्तर

क्र.स.Random Access Memory (RAM)Read Only Memory (ROM)
(1)इसमें यूजर द्वारा सूचनाओं को लिखा व पढ़ा जा सकता है।इसमें यूजर द्वारा सूचनाओं को | केवल पढ़ा जा सकता है।
(2)यह मेमोरी (Volatile) वोलेटाइल होती है अर्थात् सप्लाई के बंद होते ही इसमें संग्रहित सूचनाएं नष्ट हो जाती है।यह मेमोरी नॉन-वोलेटाइल (Non-volatile) होती है अर्थात् करंट सप्लाई के बंद होने के बाद भी इसमें सूचनाएं यथावत् बनी रहती है।
(3)इसमें सूचनाओं को पढ़ने अथवा लिखने का कार्य यूजर द्वारा होता है।इसमें सूचनाएं लिखने का कार्य कम्प्यूटर निर्माता कम्पनी के द्वारा होता है। जैसे- BIOS प्रोग्राम रोम में ही संग्रहित होते हैं।
(4)इसके प्रकार SRAM व | DRAM है।इसके प्रकार PROM, EPROM, या EEPROM है।
types of computer click this link

computer memory click this link

Leave a comment