कम्प्यूटर का परिचय (INTRODUCTION OF COMPUTER)

कम्प्यूटर का परिचय (INTRODUCTION OF COMPUTER)

कंप्यूटर क्या है –

कम्प्यूटर शब्द कम्प्यूट (compute) से बना है जिसका अर्थ है- गणना। अतः कम्प्यूटर का अर्थ है- गणना करने वाली मशीन। यह एक ऐसा उपकरण है जो अपनी मेमोरी में उपस्थित निर्देशों के आधार पर काम करता है। यह डाटा (इनपुट) को ग्रहण कर उसे तय नियमों के अनुसार व्यवस्थित (प्रोसेस) कर परिणाम देता है व भविष्य में उपयोग के लिए उसे स्टोर भी करता है। कम्प्यूटर में जो डाटा डाला जाता है उसे इनपुट कहते हैं व प्रोसेस किए गए. परिणाम को आउटपुट कहते हैं।

कम्प्यूटर यूनिट के विभिन्न भाग जैसे- की-बोर्ड, माउस, मॉनीटर आदि सिस्टम के बाहर लगे होते हैं जबकि जानकारियों को प्रोसेस व स्टोर करने वाले उपकरण यूनिट के अन्दर लगे होते हैं। एक सामान्य कम्प्यूटर का आरेख चित्र में दर्शाया गया है।

कंप्यूटर को हम तीन भागों में बांटते हैं

  1. इनपुट यूनिट
  2. सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट
  3. आउटपुट यूनिट

उपरोक्त चित्र का विवरण निम्न प्रकार है-

  1. इनपुट यूनिट ( INPUT UNIT)

कम्प्यूटर में कोई भी डाटा अथवा प्रोग्राम जिन उपकरणों की सहायता से पहुंचाया जाता है उन्हें इनपुट उपकरण कहते हैं। यह दो प्रकार के होते हैं-

(a) वे उपकरण जो व्यक्ति व कम्प्यूटर का सीधा संपर्क करवाते हैं। जैसे- की-बोर्ड (Keyboard) कम्प्यूटर से जुड़ा होता है और उसके माध्यम से सीधे व्यक्ति द्वारा डाटा अथवा निर्देश कम्प्यूटर को प्रदान किए जाते हैं।

(b) वे उपकरण जिनमें कम्प्यूटर में डाटा व निर्देश भेजने से पूर्व संग्रह (Store) किए जाते हैं।

जैसे- फ्लॉपी (Floppy), मैग्नेटिक टेप (Magnetic Tape) आदि ।

इनपुट उपकरणों के उदाहरण-

की-बोर्ड (Keyboard), माउस (Mouse), जॉयस्टिक (Joystick), स्कैनर (Scanner), लाइट पैन (Light Pen), ट्रैक बॉल (Track Ball), डिजिटल टेबलेट (Digital Tablet), ओ.एम.आर. (OMR), एम.आई.सी.आर. (MICR) इत्यादि । ओ.सी.आर. (OCR),

  1. सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CENTRAL PROCESSING UNIT, C.P.U.)

सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट, कम्प्यूटर का मुख्य भाग होता है। इसे कम्प्यूटर का मस्तिष्क (Brain) और हृदय (Heart) माना जाता है। कम्प्यूटर द्वारा की जाने वाली समस्त गणनाएं इसी भाग में होती है।

इनपुट-आउटपुट उपकरण का कार्य केवल उपभोक्ता (user) का संबंध कम्प्यूटर से जोड़ने का होता है। C.P.U. के तीन प्रमुख भाग होते हैं-

(a) मुख्य मेमोरी (Main Memory)

यह C.P.U. का वह भाग है जिसमें सभी डाटा अथवा प्रोग्राम गणना के पहले एवं बाद में संग्रहित किए जाते हैं। गणनाओं से पूर्व सभी डाटा एवं निर्देश, गणना के लिए आवश्यक निर्देश तथा मध्यवर्ती परिणाम, आउटपुट उपकरण में भेजे जाने से पूर्व इनमें संग्रहित रहते हैं।

(b) अर्थमैटिक एवं लॉजिक यूनिट (Arithmetic and Logic Unit,

A.LU.) इस भाग में सभी प्रकार की गणनाएं व तुलनाओं का कार्य किया जाता है। सी.पी.यू. के लिए सभी प्रकार की अंकगणितीय क्रियाएं (जोड़ना, घटाना,

गुणा करना तथा भाग देना) और तुलनाएं (दो संख्याओं में यह बताना कि कौन सी संख्या छोटी या बड़ी है अथवा दोनों बराबर है।) इसी इकाई में की जाती है। मध्यवर्ती परिणाम इस भाग में प्राप्त होते हैं जिन्हें प्राथमिक संग्रह प्रभाग में कुछ समय के लिए रखा जाता है। अन्तिम परिणाम प्राप्त होने से पूर्व कई बार डाटा प्राथमिक संग्रह प्रभाग व अंकगणितीय लॉजिक प्रभाग (A.L.U.) के मध्य स्थानान्तरित होते हैं।

(c) कंट्रोल यूनिट (Control Unit)

यह भाग कम्प्यूटर के सभी भागों के लिए मुख्य तंत्रिका तंत्र के समान कार्य करता है। यह भाग कम्प्यूटर के सभी भागों को निर्देशों के आधार पर कार्य करने के आदेश देता है व कम्प्यूटर के क्रियान्वयन का ध्यान रखता है कि कार्य सुचारू रूप से संचालित हो।

  1. आउटपुट यूनिट ( OUTPUT UNIT)

ये उपकरण सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट से अन्तिम परिणाम को बाइनरी संकेतों में प्राप्त कर उन्हें आसानी से पढ़े जाने वाली भाषा में परिवर्तित करते हैं। साधारणतया मॉनीटर एवं प्रिन्टर का उपयोग आउटपुट उपकरणों के रूप में किया जाता है।

अलग-अलग प्रकार के डाटा के लिए अलग-अलग प्रकार की आउटपुट इकाइयों का प्रयोग किया जाता है

जैसे- ध्वनि (Audio) आउटपुट के लिए स्पीकर, टेक्स्ट (Text) प्रदर्शन के लिए मॉनीटर, हार्डकॉपी आउटपुट के लिए प्रिन्टर का प्रयोग किया जाता है। कुछ मुख्य आउटपुट उपकरणों के उदाहरण है- मॉनीटर, प्रिंटर, प्लोटर, फ्लॉपी, स्पीकर आदि।

Computer ke labhclick kare

2 thoughts on “कम्प्यूटर का परिचय (INTRODUCTION OF COMPUTER)”

Leave a comment